भारत में सबसे ज्यादा मोबाइल फोन बेचने वाली Xiaomi को, अमेरिका ने क्यों किया बैन? जानिए वजह

पिछले कई सालों से चीन की कंपनी Xiaomi भारत के मोबाइल फोन बाजार की सबसे बड़ी कंपनी है। कंपनी की माने तो वो हर साल भारत में करोड़ों स्मार्टफोन्स बेचती है, हर तीन महीने पर जो मोबाइल फोन बिक्री के आंकड़े आते हैं, उनमे Xiaomi लगातार कई बार नंबर एक रह चुकी है, भारतीय मोबाइल फोन बाजार में इस कंपनी की हिस्सेदारी 24.% से भी अधिक है। इसका कारण ये भी है की ये कंपनी बजट में अच्छे और आकर्षक फीचर्स देती है, जो ग्राहकों को बहुत आकर्षित करते हैं।

जहाँ कंपनी के भारत में दिन काफी अच्छे गुजर रहें हैं, वहीं यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ अमेरिका (USA) ने Xiaomi को अपने देश में ब्लैकलिस्ट कर दिया है। बता दें की ट्रम्प सरकार ने जाते जाते इस अहम फ़ासिले पर अपनी मुहर लगा दी है। Xiaomi के साथ-साथ 8 अन्य चीनी कंपनियों को भी USA की सरकार ने ब्लैकलिस्ट करने का फैसला कर लिया है। US की सरकार ने आरोप लगाया है की जिन कंपनियों को बैन किया गया है, उनके तालुकात चीनी मिलिटरी और चीनी कम्युनिस्ट पार्टी से है।

चीन की इन कंपनियों के बैन होने के बाद से, अमरीका के निवेशक इन कंपनियों में अब पैसा नहीं निवेश कर पाएंगे। इसके साथ ही निवेशकों को कहा गया है की, वो अपने पैसे इन कंपनियों से इस साल नवंबर तक निकाल ले। कंपनी को USA से ब्लैकलिस्ट किये जाने के बाद Xiaomi ने भी त्वरित प्रतिक्रिया दी है। कंपनी का कहना है की उसका चीन की मिलट्री और वहां की कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना से किसी प्रकार के कोई संबंध नहीं है।

Xiaomi ने कहा है की वो जहाँ भी व्यपार करती है, वो उस देश और इलाके के नियमों का पूरी तरह से पालन करती है, कंपनी ने कहा है की वो आम लोगों को अपनी प्रोडक्ट्स और सर्विसेज देती है, Xiaomi ने इस बात पर जोड़ देकर कहा की, कंपनी किसी भी तरह से चीनी मिलिट्री के द्वारा न ही कंट्रोल की जाती है और ना ही उसका, उनसे किसी प्रकार का संबंध है। बता दें की अमेरिका में भी Xiaomi अपने पैर तेजी से पसार रही थी, हालाँकि कंपनी को अमरीका से ब्लैकलिस्ट किये जाने के बाद से, उसका व्यपार पर क्या असर होगा, इस बात का अंदाजा अभी नहीं लगाया जा सकता है।

You might also like