यूरोप के इस खूबसूरत देश में नहीं है आर्मी, ऐसे करते हैं दुश्मनों का सामना

जब देश की सुरक्षा की बात आती है, तो हमें सबसे पहले आर्मी का ख्याल ही आता है। देश संकट में हो या किसी मुश्किल हालात से गुजर रहा हो, आर्मी हमेशा देश की रक्षा के लिए सबसे आगे खड़ी होती है। आर्मी पर पुरे देश को सुरक्षित रखने की जिम्मेदारी होती है। पर क्या आप कभी ये सोच सकते हैं की किसी देश के पास आर्मी ही ना हों? कई लोग ये भी सोच सकते हैं की ये कैसे संभव है? आर्मी तो हर देश में होती है। पर ऐसा नहीं है, आज हम आपको एक देश के बारे में बताने जा रहे हैं, जिस देश में आर्मी नहीं है फिर भी वो देश बहुत सुरक्षित और खुशहाल है।

यूरोप के सबसे खूबसूरत देशों में से एक आइसलैंड में आर्मी नहीं है, इसका सबसे बड़ा कारण इस देश की जनसँख्या भी है, मालूम हो की आइसलैंड की आबादी केवल 3 लाख 64 हजार है। इसके साथ-साथ आर्मी को रखने के लिए काफी पैसों की भी जरुरत होती है, ये भी आर्मी न रखने की एक वजह हो सकती है। आइसलैंड दुनिया के शांत देशों में गिना जाता है, यहाँ आपराधिक घटनाएं भी काफी कम होती है। ये देश दुनिया के सबसे ठंडे देशों में से एक है। आपको बता दें की आइसलैंड में कोई स्टैंडिंग आर्मी तो नहीं है, लेकिन यहाँ की आवाम की सुरक्षा की जिम्मेदारी आइस लैंड कॉस्ट गार्ड पर होती है। ऐसे में अगर देश पर कोई आपदा आती है तो कॉस्ट गार्ड के जवान ही देश की रक्षा करते हैं।

Iceland 2

Advertisement

आइसलैंड दुनिया के सबसे खुशहाल देशों में से एक माना जाता है, दुनिया के सबसे खुशहाल देशों की सूचि में आइसलैंड – फ़िनलैंड, डेनमार्क और स्विटज़रलैंड के बाद चौथे नंबर पर आता है। इस देश में ठंड इतनी पड़ती है की खून जम जाए। अपने खूबसूरत बर्फीले नजारों की वजह से आइसलैंड में दुनिया भर टूरिस्ट यहां आते हैं और इस खूबसूरत देश को देख कर आंनद उठाते हैं।