भारत में है दुनिया की पहली अस्पताल ट्रेन, यहाँ होता है मुफ्त इलाज, अब तक लाखो लोगों के बचा चुकी है जान

भारत में रेलवे की शुरुवात वर्ष 1853 में हुई थी, तब से लेकर अभी तक पूरी रेल प्रणाली में बहुत ज्यादा बदलाव आया है। पहले जहाँ ट्रेनें 1 घंटे में कुछ किमी का ही सफर तय कर पाती थी, आज के सुपरफास्ट, एक्सप्रेस और बुलेट ट्रेन के जमाने में, ट्रैन से कुछ ही घंटों में हजारों किमी का सफर तय किया जा सकता है। पहले रेलवे का इस्तेमाल सिर्फ यात्रियों को एक स्थान से दूसरे स्थान या सामान को एक जगह से दूसरे जगह लेना जाने के लिए ही होता था।

पर आप क्या ये सोच सकते हैं? की कोई ऐसी ट्रेन हो जिसमे यात्री न हो, बल्कि वो अस्पताल की तरह काम करे? सुनने में ये थोड़ा अजीब सा लग सकता है, लेकिन आपको ये जानकर गर्व की अनुभूति होगी की दुनिया की पहली हॉस्पिटल ट्रेन भारत में है। भारत की “लाइफलाइन एक्सप्रेस” (Lifeline Express) वर्ल्ड की पहली और इंडिया की एक मात्र अस्पताल ट्रेन है, इस ट्रेन को जीवन रेखा एक्सप्रेस के नाम से भी जाना जाता है। बता दें की इस अस्पताल ट्रेन की शुरुवात साल 1991 में 16 जुलाई को हुई थी, तब से ये ट्रेन बिना रुके और बिना थके निरंतर आम लोगों का इलाज कर रही है।

इस ट्रेन में इलाज है फ्री, वाईफाई तथा आधुनिक ऑपेरशन थिएटर से है लैस!

इस ट्रेन की खास बात ये है की यहाँ इलाज करवाने वालों से पैसा नहीं लिया जाता है। ये ट्रेन देश के अलग अलग हिस्सों में लगातार कैंप करती है, इसका मुख्य उद्देश्य होता है अधिक से अधिक लोगों का इलाज करना। बता दें की इस ट्रेन में वाईफाई की सुविधा भी है, जिसकी मदद से दूर शहर में बैठकर भी डॉक्टर मरीजों को सलाह और निर्देश दे सकें। इस ट्रेन से जुड़ी खास बात यह है की इसे ट्रेन को पुराने पड़े हुए डब्बों को ठीक करके बनाया गया था। अभी इस ट्रेन में कई तरह की विशेष सुविधाएँ मौजूद है। मरीजों के इलाज के लिए लाइफलाइन एक्सप्रेस में 2 आधुनिक ऑपरेशन थिएटर भी बनाये गए हैं। जिससे आपात स्थिति में मरीजों का ऑपरेशन करने में काफी मदद मिलती है।

कोरोना के दौर में भी गरीबों के लिए वरदान साबित हुआ हुई है लाइफलाइन एक्सप्रेस!

कोरोना के इस मुश्किल और संकट से भरे दौर में जहाँ देश के अस्पताल बेड्स की कमी से जूझ रहे थे, ऐसे वक़्त में भी ये ट्रेन निरंतर देश के अलग-अलग क्षेत्रों में लगातार जा रही है तथा गरीबों का इलाज कर रही है, बात दें की फिलहाल लाइफलाइन एक्सप्रेस असम के बदरपुर स्टेशन पर लोगों का इलाज कर रही है, कोरोना काल में ये ट्रेन अब तक कई राज्यों में जा चुकी है और आगे भी इस ट्रेन का सफर और मदद का ये दौर ऐसे ही जारी रहेगा, मालूम हो की इस ट्रेन की वजह से अब तक लाखों लोगों की जान बचाई जा चुकी है।

You might also like