RRB NTPC , Group D Exam : रेल मंत्री की प्रदर्शनकारी छात्रों से अपील, कानून हाथ में न लें, आपत्तियों पर गंभीरता से होगा विचार

RRB NTPC Group D Exam : रेलवे एनटीपीसी रिजल्ट और ग्रुप डी भर्ती प्रक्रिया का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारी छात्रों से बुधवार को रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने अपील की कि वह कानून को हाथ में न लें। उन्होंने कहा कि छात्रों की सभी शिकायतों पर गंभीरता के साथ विचार किया जाएगा।

रेलवे आपकी संपत्ति है, इसे संभाल कर रखें। बिहार में आक्रोशित अभ्यर्थियों की ओर से रेलवे स्टेशनों पर की गई तोड़फोड़ और ट्रेनों में आग लगाए जाने की घटनाओं पर रेल मंत्री ने कहा कि आप जहां नौकरी करने के लिए सोच रहे हैं उसे नुकसान कैसे पहुंचा सकते हैं। आप अपनी बातों को सही तरीके से कमेटी के पास रखें। रेलवे आपकी हर समस्या को सुनेगी।

रेल मंत्री ने कहा, ‘कुछ लोग इसका गलत फायदा उठा रहे हैं, मैं उनसे निवेदन करूंगा कि छात्रों को भ्रमित न करें। ये छात्रों, देश का मामला है, इसको हमें संवेदनशीलता से लेना चाहिए।’

उन्होंने कहा कि सभी आरआरबी के चेयमैन से कहा गया है कि वह छात्रों की आपत्तियां एकत्रित करें और इन्हें मामले में गठित की गई समिति के पास भेजें। समित देश के अलग अलग हिस्सों में जाएगी और अभ्यर्थियों की शिकायतें सुनेगी। 

अश्विनी वैष्णव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि एनटीपीसी और ग्रुप डी भर्ती में कुल एक लाख 40 हजार वैकेंसी हैं लेकिन आवेदन एक करोड़ से ज्यादा आए हैं इसलिए बोर्ड अपने स्तर पर कार्य कर रहा है। उन्होंने छात्रों से धैर्य रखने के लिए कहा। आगजनी को लेकर जांच के आदेश दे दिए गए हैं। रेलवे लोगों की ही संपत्ति है इसलिए इसे सुरक्षित रखना सभी का कर्तव्य है।

Advertisement

इससे पहले रेलवे ने एनटीपीसी और ग्रुप डी भर्ती परीक्षाओं पर रोक लगाते हुए अभ्यर्थियों की आपत्तियों पर विचार करने के लिए पांच सदस्यीय उच्च अधिकार प्राप्त समिति का गठन कर दिया। ये समिति नाराज अभ्यर्थियों की सभी शिकायतों को सुनेगी और उनकी सभी शंकाओं का समाधान करेगी।

एनटीपीसी रिजल्ट और ग्रुप डी (लेवल-1) भर्ती प्रक्रिया को लेकर अभ्यर्थियों से 16 फरवरी 2022 तक आपत्तियां और सुझाव दर्ज कराने के लिए कहा गया है। वह अपनी शिकायतें rrbcommittee@railnet.gov.in पर ईमेल कर सकते हैं। अभ्यर्थियों की बातों पर विचार करने के बाद समिति को 4 मार्च तक अपनी सिफारिश रिपोर्ट पेश करने के लिए कहा गया है।