बिहार की बेटी ने रचा इतिहास, BPSC पास कर अब बनेगी राज्य की पहली मुस्लिम महिला DSP!

[Razia Sultan Biography in Hindi] हाल ही में लंबे समय के इंतजार के बाद 64वीं बिहार लोक सेवा आयोग के नतीजे घोषित हुए। जिसमें बिहार को पहली मुस्लिम महिला डीएसपी मिली। गोपालगंज जिले के हथुआ के रतनचक की रहने वाली रजिया सुल्तान ने बिहार की पहली मुस्लिम महिला डीएसपी बनने का गौरव प्राप्त किया।

Razia Sultan First Muslim Women DSP

वर्तमान में (Razia Sultan) बिहार सरकार के बिजली विभाग में सहायक अभियंता के तौर पर कार्यरत हैं। 27 वर्षीय रजिया ने अपने पहले प्रयास में ही अच्छे अंको के साथ बीपीएससी परीक्षा में उत्तीर्ण होकर यह कारनामा कर दिया है। बिहार में जन्मी रजिया की प्रारंभिक पढ़ाई झारखंड के बोकारो से हुई है, जहां उनके पिता मोहम्मद असलम अंसारी बोकारो के स्टील प्लांट में स्टेनोग्राफर के तौर पर कार्यरत थे।

First Woman Muslim DSP of Bihar Razia Sultan

वर्ष 2016 में उनके पिता की मृत्यु हो गई थी। उनकी मां अभी भी बोकारो में ही रहती हैं। (Razia Sultan) ने वर्ष 2009 में दसवीं तथा वर्ष 2011 में 12वीं की परीक्षा उत्तीर्ण की थी। जिसके बाद अपनी आगे की पढ़ाई के लिए वे जोधपुर चलीं गईं। वहां से उन्होंने इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की। रजिया अपने 7 भाइ बहनों में सबसे छोटी हैं।

Razia Sultan BPSC Success Story

उनकी पांचों बड़ी बहनों की शादी हो गई है। जबकि उनका भाई एमबीए करने के बाद  झांसी में नौकरी करता है। रजिया ने बताया कि वे बचपन से ही लोक सेवा आयोग में नौकरी करना चाहती थीं और इसके लिए उन्होंने वर्ष 2017 में बिहार सरकार में बिजली विभाग में कार्यरत होने  के बाद भी अपनी तैयारी जारी रखी।

Razia Sultan 1st female DSP from Muslim community

उसका नतीजा यह हुआ कि (Razia Sultan) वर्ष 2018 में हुए बीपीएससी की प्रिलिम्स में सफलता हासिल कर ली थी। इसके बाद वर्ष 2019 में हुए मेंस में भी उन्हें सफलता प्राप्त हुई और आखिरकार लंबे इंतजार के बाद ने इस वर्ष घोषित हुए नतीजे में उन्हें डीएसपी के पद के लिए चयनित किया गया है। रजिया ने अपने दिए गए एक साक्षात्कार में बताया कि वे प्रशासनिक सेवा में जाने के लिए काफी उत्सुक हैं। 

Razia Sultan Biography

(Razia Sultan) कहा कि कई बार ऐसा होता है कि लोगों को न्याय नहीं मिल पाता खासकर महिलाओं को। वे कहती हैं कि ज्यादातर ऐसा होता है कि महिलाओं के खिलाफ होनेवाले अपराध की रिपोर्ट ही दर्ज नहीं हो पाती क्यूंकि महिलाएं अकसर चुप रह जाती हैं, तथा थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाने भी नहीं आ पाती। (Razia Sultan) कहा कि वे पूरी कोशिश करेंगी कि उनके अधिकार क्षेत्र में ऐसा ना हो तथा सबको न्याय मिले।

Razia Sultan BPSC DSP

मुस्लिम समाज में शिक्षा के अभाव होने के बारे में उन्होंने कहा कि माता-पिता को लड़कियों को पढ़ना चाहिए तथा उनका प्रोत्साहन करना चाहिए। वहीं लड़कियों से उन्होंने अपील करते हुए कहा कि उन्हें अपने सपने को पूरा करना चाहिए। उन्हें लोग रोकेंगे तथा बहुत से कठिनाइयां भी आएंगी लेकिन उन्हें हार नहीं माननी चाहिए।  

इस पोस्ट में आपने बिहार की प्रथम मुस्लिम महिला DSP [Razia Sultan Biography in Hindi] की कहानी जानी, ऐसी ही प्रेरणादाई और रोचक कहानी पढ़ने के लिए आप The Live Post के कहानी Section पर क्लिक कर सकते हैं।