एक ऐसी चोरी जहाँ डकैत ने बैंक से लूट लिए 7300 करोड़ रुपए

आपने बहुत सारे बैंक चोरी के बारे में सुने होंगे और पढ़ें भी। लाखों रूपए के चोरी तो आप डेली अख़बार में पढ़ते होंगे लेकिन आज जो मैं आपको बताने जा रहा हूँ उसको सुनकर आपके होश ऊर जाएंगे। एक ऐसी चोरी जहाँ 7300 करोड़ रूपए कुछ घंटो में डकैत ने लूट लिए आप सोच रहे होंगे की इतनी बरी अमाउंट कैसे चोरी हो सकती है। जी, हाँ चोरी हो  सकती है जब इसमें खुद राष्टपति का बेटा ही शामिल हो।

आपको बेटा दे की यह घटना 18 साल पहले की है और यह इराक देश में हुआ था। केंद्रीय बैंक से कुल 1Billion डॉलर की चोरी हुई थी। अगर इंडियन करेंसी से तुलना की जाए तो करीब 7300 करोड़ इतनी बड़ी रकम जानकर आँख खुली की खुली ही रह जाती है। आखिर यह कैसे हो गया सभी के मन में यह प्रश्न आता होगा। जाहिर सी बात है इतनी बड़ी रकम सुनकर होश खो बैठता है लोग। आइये जानते है की कैसे यह चोरी हुई पूरा माज़रा समझने की कोशिश करते हैं।

यह बात मार्च 2005 की है जब अमेरिका इराक पर हमला करने वाला था। वैसे इराक और अमेरिका का दुश्मनी अभी भी चल ही रहा है लेकिन उस समय इराक और अमेरिका के काफी तनाव था। वही अपने देश में राष्टपति सदाम हुसैन काफी तानाशाह की तरह शासन कर रहे थे। जब अमेरिका इराक पर हमला करने वाला था तभी सदाम हुसैन के बेटा कुसय हुसैन (Qusay Saddam Hussein) इराक के केंद्रीय बैंक पहुंचा और बैंक प्रमुख को एक पर्ची थमाई बैंक कर्मचारी ने राष्टीय सुरक्षा को ध्यान में रखकर कुसय को पैसा दे दिया। एक और कारण था सदाम हुसैन का खौफ क्यूंकि सदाम हुसैन का तानाशाही पूरा इराक की जनता जानती थी।

ऐसा कहा जाता है की सदाम हुसैन के बेटे कुसय (Qusay Saddam Hussein) ने इराक के बैंक से इतने पैसे लुटे थे की उन्हें ले जाने के लिये ट्रक लाना पारा था। आपको यह जानकर हैरानी होगी की करीब 5 घंटे पैसा को ट्रक में रखने के लिए समय लगा था और भी पैसा था लेकिन जगह नहीं रहने पर उनके बेटे ने उस पैसे को वही छोड़ कर भाग गया।

कैसे पता चली की इतनी बरी रकम चोरी हुई है?

अमेरिका जब इराक पर बमबारी शुरू कर दी और इराक के कई जगह पर कब्ज़ा कर लिया। जब वह सेंट्रल बैंक पर कब्ज़ा किया तो उसे पता चला की सदाम हुसैन के बेटे ने सभी पैसा लेकर भाग गया। इसके बाद काफी जांच पड़ताल हुआ सदाम हुसैन के घर पर छापा पड़ा लेकिन वहां से उस लूट वाली रकम तो नहीं मिली, लेकिन उसके पास बहुत सारे पैसे बरामद हुए। ऐसा कहा जाता है की उनके छोटे बेटे उदय ने यह सब पैसा रखा था क्यूंकि उनको पैसा इकठा करने का  शौख था।

इराक में कई जगह छापे पड़े लेकिन वह पैसा नहीं मिला जो बैंक से चोरी हुई थी। ऐसा अनुमान लगाया जाता है उस पैसे को सदाम हुसैन ने सीरिया को भेज दिया होगा हालाँकि अभी तक कोई पुख्ता सबूत नहीं मिला है। इसीलिए यह विषय अभी भी गंभीर है। यह लूट इसीलिए भी खास है की इस लूट में कोई गोली बारी नहीं हुई, सबकुछ बहुत आराम से हो गया।

You might also like