गूगल से भी तेज, बिहार के ये नन्हें बच्चे, चुटकियों में देते हैं हर सवाल का जवाब

भारत की महान धरती पर अब तक ना जाने कितने ही महापुरुषों का जन्म हुआ है, जिन्होंने अपने काम से देश का नाम रौशन किया है और जिनपर हमें बहुत गर्व भी है। आर्यभट की इस धरती पर अभी भी प्रतिभा की बिल्कुल कमी नहीं है।

आज हम आपको 2 ऐसे प्रतिभावान बच्चों के बारे में बताने जा रहे है, जिन्हें (Google Boy and Google Girl of Bihar) भी कहा जा रहा है। ये बच्चे उम्र में तो काफी छोटे है, पर इनके बारे में जब आप जानेंगे, तब आपको बहुत अचंभा और इसके साथ-साथ गर्व भी होगा।

Note: आर्टिकल के आखिर में आप इन बच्चों के साथ खान सर का वीडियो देख सकते हैं।

बिहार के लखीसराय जिले के छोटे से गाँव से आने वाले 2 नन्हें बच्चे अंकित और शिवानी का सामान्य ज्ञान गजब का है। पलक झपकते ही ये बच्चें हर प्रश्न का जवाब दे देते हैं। आपको बता दें की इन बच्चों से बिहार और देश अब तक पूरी तरह अनजान था।

पटना में खान जीएस रिसर्च सेण्टर कोचिंग चलाने वाले खान सर ने इन बच्चों का पूरी दुनिया से परिचय कराया। बता दें की पटना में कोचिंग चलाने वाले खान सर इस समय अपने यूट्यूब चैनल के माध्यम से भारत ही नहीं पूरी दुनिया में काफी तेजी से मशहूर हो रहे हैं। खान सर के चैनल पर 109 लाख से भी अधिक सब्सक्राइबर्स हैं।

खान सर ने अपने चैनल पर एक वीडियो शेयर करते हुए, इन दोनों बच्चों के बारे में सभी को बताया। बिहार के लखीसराय  के छोटे से गाँव से आने वाले अंकित की उम्र इस वक़्त सिर्फ 7 साल है, वहीं शिवानी की उम्र महज 5 साल है, पर इतनी कम उम्र में भी ये बच्चे गूगल की तरह हर प्रश्नों के जवाब देते हैं। खान सर ने इन बच्चों से भूगोल, राजनीती शास्त्र और इतिहास के कई कठिन सवाल पूछे पर इन बच्चों के पास उन सभी प्रशनों के जवाब थे।

शिवानी से जब खान सर 70 सागरों और देश के नामों के बारे में पूछा, तो नन्हीं सी दिखने वाली इस बच्ची ने बिना रुके, सभी नाम एक साथ बता दिया। ये देख कर खान सर भी दंग रह गए।

जाहिर सी बात है इतनी छोटी बच्ची के लिए, इतने सारे नामों को याद रखना बिल्कुल भी आसान नहीं है। खान सर ने इन बच्चों से कई तरह से सवाल पूछे, पर ये बच्चे सभी प्रश्नों का सहजता पूर्वक जवाब देते गए। खान सर कहते हैं की ये बच्चे जिन सवालों के जवाब दे रहे हैं, उन्हें हम ग्रेजुएशन के बच्चों को पढ़ाते हैं।

आपको बता दें की अंकित और शिवानी के भाई, खान सर के एप से पढ़ाई किया करते थे। लॉकडाउन में जब सारे कोचिंग संस्थान बंद हो गए थे, तभी खान सर ने बच्चों को ऑनलाइन पढ़ाने के लिए इस एप को लॉन्च किया था। अपने भाई को पढ़ता देख इन बच्चों को भी खान सर के वीडिओज़ देखने का मन हुआ, उसके बाद वो लगातार वीडियो देख कर पढ़ने लगे, ये बच्चे जिस तरह से सवालों के जवाब देते हैं, उन्हें देख कर हम इन्हें बिहार के गूगल बॉय और गूगल गर्ल (Google Boy and Google Girl of Bihar) कहे तो गलत नहीं होगा। खान सर से बात करते हुए इन बच्चों ने कहा की वो भविष्य में यूपीएसी की परीक्षा पास करना चाहते हैं।

कुछ साल पहले कौटिल्य पंडित गूगल बॉय के नाम से प्रसिद्ध हुए थे, आये दिन भारत के अलग अलग हिस्सों से हमें ऐसे प्रतिभावान बच्चों के बारे में पता चलते रहता है। इस से ये भी पता चलता है की भारत के बच्चों में हुनर की कमी नहीं है, कमी है तो सिर्फ सही मार्गदर्शन की। अगर ऐसा होता है तो वो दिन दूर नहीं जब हमारा भारत एक बार फिर से विश्व गुरु होगा।

ये भी पढ़ेंक्लास 2 में ही खो दी थी आँखों की रौशनी, परिवार पर नहीं बनना चाहती थी बोझ, चुनैतियों से लड़कर ऐसे बनी PCS अफसर

IAS Interview Questions: भारत में सबसे पहले आधार कार्ड किसका बना था?