भागलपुर के पति पत्नी का कमाल, एक साथ BPSC निकाल कर बने अफसर!

[Bhagalpur Husband Wife Cracked BPSC] अकसर ये कहा जाता है की अगर पति और पत्नी दोनों एक दूसरे का साथ दे और उन्हें सपोर्ट करे तो बहुत कुछ हासिल किया जा सकता है। इसी बात का तजा उदाहरण हाल में घोषित हुए 64वीं बीपीएससी परीक्षा के नतीजों में देखने को मिला जब भागलपुर के सुल्तानगंज विधानसभा के नोनसर गांव के पति-पत्नी ने एक साथ BPSC की कठिन परीक्षा में सफलता हासिल की। बता दें की भागलपुर के मनीष भारद्वाज एससी एसटी कल्याण पदाधिकारी के तौर पर चुने गए हैं जबकि उनकी पत्नी राजबाला सिंह सप्लाई इंस्पेक्टर के पद के लिए चुनी गई हैं।

मनीष ने भागलपुर के तिलका मांझी विश्वविद्यालय से बीएससी किया है। इसके बाद वे यूपीएससी तथा बीपीएससी की तैयारी कर रहे थे। वहीं उनकी पत्नी राजबाला सिंह ने अपनी शिक्षा नागपुर, महाराष्ट्र से हासिल की है। उन्होंने एम फार्मा की पढ़ाई की है। उन्होंने बताया कि यह उनका पहला प्रयास था तथा वे आगे बिहार प्रशासनिक सेवा में अपना योगदान देना चाहती हैं। वर्तमान में राजबाला टीसीएस के मुंबई स्थित ऑफिस में नौकरी करती हैं। मनीष के पिता मिथिलेश कुमार सिंह  एक किसान हैं जबकि उनकी मां वीणा सिंह  गृहणी हैं।

प्रतीकात्मक तस्वीर

मनीष के माता- पिता  अपने पुत्र एवं पुत्रवधू को एक साथ मिली सफ़लता से बेहद खुश हैं तथा गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं। उनकी माता वीणा सिंह ने बताया कि वे अपने बेटे और बहू को मिली सफ़लता से गर्व महसूस कर रही हैं उन्होंने सभी को संदेश देते हुए  कहा कि परिश्रम का फल मीठा होता है। मनीष ने अपने दिए गए एक साक्षत्कार  में बताया की उनकी सफ़लता का श्रेय भगवान, उनके माता – पिता, चाचा तथा उनके भाई को जाता है। मनीष का सपना आईएएस बनने का है और वे इसकी तैयारी भी कर रहे हैं उन्होंने बताया कि वे यूपीएससी परीक्षा की तैयारी जारी रखेंगे।

गौरतलब है की 64वीं बीपीएससी परीक्षा में 5,71,581 आवेदन आए थे। और इतने लोगों में जब किसी भी अभयार्थी का सेलक्शन हो तो वो बहुत बड़ी बात है। बात दें की 64 वीं BPSC बिहार प्रशासनिक सेवा के अनुमंडल पदाधिकारी एवं वरीय उप समाहर्ता के पद के लिए 28, वाणिज्य कर पदाधिकारी के पद के लिए 10, बिहार पुलिस सेवा के लिए 40, आपूर्ती निरीक्षक के पद के लिए 223, बिहार कारा सेवा के काराधिक्षक की पद के लिए 2, राजस्व अधिकारी एवं समकक्ष के पद के लिए 571, नगर कार्यपालक  पदाधिकारी के लिए 7 तथा प्रखंड पंचायत पदाधिकारी के लिए 133 पदों पर  नियुक्ति हुई है।