क्या होती है आसमानी बिजली? आखिर ये कितनी ताकतवर है की सिर्फ चंद सेकंड्स में ही ले लेती है जान?

पुरे देश में इस समय मानसून आ चूका है, जिसके कारण आजकल पुरे भारत के कई राज्यों में अच्छी खासी बारिश दर्ज की जा रही है। मानसून के समय वैसे तो हमारे देश के किसानों को फायदा होता है, क्यूंकि बारिश से जमीन की सिचाई हो जाती है और फसल भी अच्छी होती है। पर इसके साथ ही कभी-कभी बारिश इतनी अधिक हो जाती है की उस इलाके में बाढ़ की संभावना बन जाती है। बारिश अपने साथ एक और भयानक चीज़ लेकर आती है जिसमे हम आसमानी बिजली कहते हैं। आज इस पोस्ट में हम आपको आसमानी बिजली और उससे जुड़े कुछ महत्वपूर्ण फैक्ट्स बताने जा रहे हैं।

आसमानी बिजली का सबसे बड़े कारण हैं आसमान में अपोजिट एनर्जी में उमरने और घुमरने वाले बादल, ये बादल विपरीत दिशा में जाकर आपस में ही टकराते हैं। इससे आकाश में जबरदस्त घर्षण उत्पन्न होता है और इसी से बिजली पैदा होती है, जो बाद में धरती पर गिर जाती है। आसमान में किसी तरह का कंडक्टर न होने से बिजली पृथ्वी पर कंडक्टर की तलाश में पहुंच जाती है, आसमानी बिजली को जैसे ही कंडक्टर मिलता है वो उस पर गिर जाती है। वो कंडक्टर कोई जीवित वस्तु जैसे पेड़, कोई इंसान या निर्जीव वस्तु भी हो सकता है। इस से कभी कभी थोड़ा पर कभी कभी बहुत ज्यादा नुकसान भी हो जाता है।

आपको बता दें की आसमानी बिजली गिरने से हर साल पूरी दुनिया में हजारों लोगों की जान चली जाती है। भारत के कई प्रदेशों जैसे बिहार और उत्तर प्रदेश में मानसून के समय में आसमानी बिजली की घटनाएं बड़ी संख्या में दर्ज की जाती है। अकेले बिहार में पिछले वर्ष बिजली गिरने से सैंकड़ों लोगों की मृत्य हो गयी थी। बता दें की बिजली जब गिरती है तो एक साथ कई हजार वाल्ट करंट अपने साथ लेकर आती है। आसमानी बिजली और इससे जुड़े सभी सवालों के जवाब पाने के लिए आपको खान सर का ये वीडियो जरूर देखना चाहिए।

Red Play बटन पर क्लिक करके देखिये पूरा वीडियो!

आसमानी बिजली को लेकर लोगों के बीच कई तरह के अफवाह भी हैं, जैसे – अगर बिजली गोबर पर गिरती है तो वो गोबर सोना बन जाएगा।